Nyepi – when Bali goes silent

न्‍यपी – जब बाली बुनता है सन्‍नाटे का साम्राज्‍य

a day of purification of the universe and human soul

मेरे लिए दूर देशों की यात्राओं का सबसे बड़ा आकर्षण उनके तीज-त्योहार ही रहे हैं। इसी बहाने खानपीन, सजना-संवरना और बाज़ारों की रौनकों को देखने का मौका भी मिल जाता है। लेकिन मैं हमेशा से बाली के सफर पर जाना चाहती हूं न्‍यपी के मौके पर।

बाली का मौन पर्व  A Day of Silence In Bali

नववर्ष प्रारंभ होने पर बाली का हिंदु समुदाय न्‍यपी का अजब पर्व मनाता है। उस दिन पूरे चौबीस घंटे के लिए हर कोई चुप्‍पी का संसार अपने गिर्द बुनता है, पूरे बाली में जैसे हर शय ठहर जाती है। कोई कुछ नहीं बोलता, सिर्फ ध्‍यान गुनता है। न रसोई में कुछ पकता है न कारखाने ही चलते हैं। उपवास रखा जाता है। सड़कों पर आवाजाही बंद हो जाती है ….. जैसे रफ्तार ही ठहर जाती है। घरों से लेकर होटलों तक में बत्तियां नहीं जलतीं। और तो और पूरे चौबीस घंटे के लिए डेनपसार हवाईअड्डा पर भी चुप्‍पी पसर जाती है। हां, इमरजेंसी सेवाएं जारी रहती हैं, जरूरत हो तो आप अपने घरों के भीतर बत्‍ती जला सकते हैं, बस शर्त इतनी होती है कि रोशनी बाहर न झांके। लोग दिन भर मौन रखते हैं और शहर में बसने वाले दूसरी आस्‍थाओं के लोग अपने हिंदु हमवतनों की इस परंपरा का पूरा सम्‍मान करते हैं।

न्‍यपी पर क्‍या नहीं हो सकता –

  • आग और रोशनी कतई नहीं, घरों में खाना नहीं पकाया जाता, बिजली का इस्‍तेमाल नहीं किया जाता
  • कोई कामकाज/गतिविधि नहीं
  • यात्रा की मनाही
  • मनोरंजन नहीं

चुप्‍पी के इस पर्व का पालन करवाने के लिए कम्‍युनिटी पुलिस (pacalang) मुस्‍तैद रहती है, समुद्रतटों से सड़कों तक पर शांति बनाए रखने की खातिर।

आत्मा का शुद्धिकरण (a day for introspection) 

मौन और उपवास और हर तरह के व्यसन से खुद को मुक्त रखने का यह पर्व दरअसल, शुद्धता को धारण करने का अवसर लेकर आता है। लोगों का मानना है कि न्यपी समूचे संसार और आत्मा की शुद्धिकरण का पर्व है। मस्तिष्‍क, वाणी, पेट को डिटॉक्‍स करने का दिन।

न्‍येपी से पहले दिन ओगो-ओगो परेड (Pre-Nyepi Day Ogoh-Ogoh Parade)

शुद्धि का पर्व न्‍यपी ओगो-ओगो परेड के बगैर अधूरा है।  न्‍यपी की पूर्व संध्‍या पर शहर भर में जगह-जगह ओगो-ओगो परेड निकलती है। ओगो-ओगो दरअसल, डरावने पुतले होते हैं, सबसे डरावना पुतला किस बस्‍ती/गांव का होगा, यह तय करने के लिए बाकायदा प्रतियोगिताएं भी होती हैं।  ये डरावने पुतले बुरी आत्‍माओं को बाली से बाहर धकेलने के प्रतीक होते हैं। परेड के बाद इन्‍हें जला दिया जाता है।

Ogho-Ogho Parade in Bali on the eve of Nyepi (pic credit : Google)

न्यपी से अगला दिन नववर्ष के रूप में मनाया जाता है।

न्‍यपी पर करें सितारों से गुफ्तगू (Stargazing in Bali on Nyepi is very popular)

इंडोनेशिया टूरिज़्म के विलियम कलुआ (William Kalua) कहतेे हैं, ‘यही तो सबसे बेहतरीन समय है बाली आने का, पर्यटक इस दिन यहां का मौन महसूस करने और रात को नीरव आसमान पर दमकती आकाशगंगा के असंख्‍य तारों को देखने आते हैं। एक रोज़ बाली के इस निराले आस्‍था पर्व से जुड़ जाना जिंदगी भर के लिए बहुत ही खास यादों का इंतज़ाम करने जैसा है।” 

बाली के हिंदू समाज के इस निराले त्‍योहार के बारे में बीते सफर में जाना था। और रह-रहकर याद आता रहा है यह संदेश जिसे बाली एयरपोर्ट पर पढ़ा था –  “If you will not go, you will never know”. How true!

Nyepi will be observed from 0600hrs on March 25th to 0600 hrs on 26th, 2020 

 बाली 2020 में 25 मार्च को सवेरे 6 बजे से अगले दिन 26 मार्च को सवेरे 6 बजे तक फिर चुप हो जाएगा, फिर एक बार सन्‍नाटा हर शय पर तारी होगा और इस बार न्‍यपी मेरी भी यादों में उतरेगा।

मुस्लिम बहुल इंडोनेशिया में बाली द्वीप पर ज्‍यादातर हिंदु (83%) बसते हैं, जबकि पूरे देश में हिंदु आबादी सिर्फ 1.7% है।

बाली यात्रा की तैयारी से पहले क्‍या जानना है जरूरी – 

 भारतीयों के लिए मुफ्त वीज़ा ऑन एराइवल
 लोकल करेंसी इंडोनेशियन रुपियाह, 1 रुपियाह = ₹0.0048
 होटलों, मॉल्‍स, शोरूमों आदि में क्रेडिट/डेबिट कार्ड स्‍वीकार्य, लेकिन स्‍ट्रीट शॉपिंग के लिए लोकल करेंसी ही चलती है
 भाषाएं – अंग्रेज़ी, मलय, बहासा इंडोनेशिया
 खरीदारी – क्राफ्ट आइटम, बाटिक वस्‍त्र, कॉफी (सुमात्रा की दुर्लभ सिवेट कॉफी खरीदना न भूलें)

फोन और इंटरनेट
 लोकल सिम खरीद सकते हैं, एक्‍टीवेट होने में 2-3 दिन लगते हैं और इसे खरीदने के लिए पासपोर्ट दिखाना जरूरी है। आप अपने हिंदुस्‍तानी सिम पर इंटरनेशनल रोमिंग भी ले सकते हैं।
 आमतौर से होटलों-बार आदि में वाइ-फाइ मुफ्त

मौसम
 तापमान सालभर 30°- 20°से
 बाली में सिर्फ दो मौसम हैं – मई से सितंबर में धूप खिली रहती है और अक्‍टूबर से मार्च तक बारिश
हाइ सीज़न – जुलाई और अगस्‍त जब मौसम खुशनुमा हो जाता है

कैसे जाएं
 देश के कई शहरों से बाली के लिए उड़ानें हैं
 उड़ान समय – लगभग 10 घंटे (दिल्‍ली से)
 एयर एशिया, थाइ एयरवेज़, गरुड़ा एयरवेज़, स्‍कूट, मलेशिया एयरलाइंस, मैलिंडो एयर, बाटिक एयर समेत कई विमान सेवाएं उपलब्‍ध

न्‍यपी के लिए जरूरी तैयारी 

  • अपने होटल/रेसोर्ट/विला में ही रहें, अंदर रहते हुए आप वाइफाइ, पूल, रेस्‍टॉरेंट वगैरह सेवाओं का इस्‍तेमाल कर सकते हैं, अलबत्‍ता, मोबाइल डेटा स्‍लो या बंद हो सकता है
  • एटीएम बंद रहेंगे, लिहाज़ा कैश निकालना जरूरी हो तो न्‍यपी पर्व से एक दिन पहले ही पैसे निकाल लें
  • डिपार्टमेंट स्‍टोर, बाज़ार, दुकानें बंद रहेंगे, इसलिए जरूरी चीज़ों की खरीदारी पहले से कर लें
  • उड़ानें   24 घंटे बंद रहेंगी, ट्रैवल की तैयारी इस बात काे ध्‍यान में रखकर करें
  • सड़कों पर कारों-बसों की आवाजाही बंद रहेगी
  • केवल इमरजेंसी सेवाएं जारी रहेंगी, इसलिए बाहर घूमने का प्रोग्राम न बनाएं
  • किताबें पढ़ें, किंडल और लैपटॉप में बंद ई-बुक्‍स, मूवीज़ वगैरह की मदद लें, म्‍युजि़क सुनें (याद रहे, शोर आपके कमरे से बाहर नहीं जाए)
  • बाली में न्‍यपी के दिन सार्वजनिक अवकाश रहेगा, बैंक, दफ्तर, म्‍युजि़यम वगैरह बंद होंगे

Wishing you a peaceful Nyepi day In Bali, Indonesia!

 

About Alka Kaushik

I am an Independent travel journalist, translator, blogger and inveterate traveller, based out of Delhi, India. I have been a food columnist for Dainik Tribune besides contributing or Dainik Bhaskar, ShubhYatra, Rail Bandhu, Jansatta, Dainik Jagran etc. My regular column on the portal The Better India - Hindi is a widely read and shared column with travel stories from around India.

View all posts by Alka Kaushik →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *