Nagaland – where fashion reaches faster than roads!

Photo Essay on Kohima 

स्कूल में जब पूर्वोत्तर की आठ बहनों के नाम रटने पड़ते थे तब नगालैंड—मणिपुर जैसे नाम किसी दूसरे ही लोक के मालूम होते थे! नहीं मालूम था कि एक दिन इन्हीें की गलियों-सड़कों से गुज़रना भी होगा। सड़क कहना गलत है वैसे, नगालैंड में गड्ढों के बीच सड़क का कोई टुकड़ा दिखता है तो उसे क्या कहते हैं, मुझे नहीं मालूम। एक रोबस्ट एसयूवी की सवारी इन सड़कों पर बड़े काम की साबित होती है। हालांकि दस दिन इन सड़कों पर दौड़ने के बाद अगले दस महीने आपकी पीठ और कमर आपको नॉर्थ ईस्ट की याद बदस्तूर दिलाती रहेगी!

My abode in Kohima
My abode in Kohima

बस, सड़कों को भूल जाएं तो नगालैंड में सब कुछ सुहाना है, सफर सुहाना, नज़ारे अद्भुत और यहां के ट्राइबल नगा, वो तो बस गज़ब ही होते हैं। एकदम ज़मीनी लोग, भोजन से लेकर रहन—सहन, संगीत—नृत्य, कबीलाई समाजों के बीच उनकी सीधी—सादी जीवनशैली और बीते दौर के हैड—हंटिंग के किस्से, सब कुछ लुभाते हैं।

IMG_4761

लेकिन राजधानी कोहिमा कई धारणाओं को तोड़ती है! मसलन, यहां की सड़कों पर टहलकदमी करते युवाओं को देखकर आपको अपने शहरी होने के बोध पर ग्लानि भी हो सकती है! स्टाइलिश हेयरस्टाइल वाले युवक और फैशनपरस्त युवतियां अपने सौंदर्य और आकर्षण से आपको  एक बार तो यह सोचने पर मजबूर कर ही देंगी कि मुंबई के बाद फैशन की अगली मंजिल कोहिमा ही तो नहीं!

Kohima city
Kohima city

आधुनिकता की बहार है कोहिमा में तो इतिहास को संजोकर रखने की संजीदा कोशिश भी। इस वॉर मेमोरियल में दूसरे महायुद्ध के दौरान शहीद हुए ब्रिटिश सेना के सिपाहियों की कब्रे हैं। सबसे कम उम्र का एक सैनिक यहां सोहल बरस की उम्र में शहीद हुआ था, और उसकी कब्र पर लगे पत्थर की इबारत पढ़कर आपकी आंखे जरूर नम हो आएंगी।

 

War Memorial, Kohima
War Memorial, Kohima

 

किसी मां का अपने मृत बेटे के नाम संदेश तो किसी पर एक पत्नी का अपने स्वर्गीय पति को भेजा बेहद मार्मिक संदेश आपको संजीदा बना देता है।

 

 

IMG_4839

और पूरे नगालैंड के दर्जनों आदिवासी समुदायों की रवायतों को देखना—समझना हो तो कोहिमा में बने संग्रहालय की सैर जरूर कर लें।

IMG_4927

नगालैंड में बरसों पहले दुश्मन की सिर कलम करने की रवायत थी, दुश्मन का सिर लेकर लौटना किसी चैंपियनशिप की ट्रॉफी लेकर लौटने जैसा होता है। हालांकि अब यह परंपरा यहां नहीं रही, तो भी इस पूरे इलाके में आप किसी से फालतू उलझना तो नहीं चाहेंगे, हैं न!

 

Head Hunting used to favourite play once
Head Hunting used to be favourite play once

बांस और नगालैंड जैसे एक दूसरे के पर्याय हैं। हथियारों से लेकर घर तक, औजारों से लेकर बर्तन तक, बांस के बनाए जाते हैं।

 

Bamboo products at display
Bamboo products at display

 

jkjk

Old Naga woman
Old Naga woman

मुझ शाकाहारी के लिए कोहिमा का कीड़ा बाज़ार भी दर्शनीय पड़ाव था।

 

scene at Kida (Insect) Bazar, Kohima
scene at Kida (Insect) Bazar, Kohima

और ज़रा दो—दो हाथ हो जाए ..

 Kushti (wrestling) bouts are common in Nagaland
Kushti (wrestling) bouts are common in Nagaland

और उत्सवों—उल्लास में डूबे रहने वाले नगा समाज का एक मिनी—कॉस्मॉस है हेरिटेज विलेज जो कोहिमा शहर से बाहर जखामा जाने वाली सड़क पर बनाया गया है।

Naga heritage village - preparation for annual Hornbill festival
Naga heritage village – preparation for annual Hornbill festival

ठेठ पारंपरिक नगा समाज ने आधुनिकता की आंधी का रुख मोड़े रखा है और फैशनेबल युवा बेशक स्मार्टफोन पर व्हट्सएॅप, फेसबुक में रमे दिखते हों लेकिन कुल—मिलाकर समाज का पूरा चेहरा आज भी पारंपरिक है।

every Village has this kind of welcome gates
every Village has this kind of welcome gates

2 Comments on “Nagaland – where fashion reaches faster than roads!”

  1. Beautiful pics Alka ji! Indeed North East is the true fashion capital of India. I remember having bought a dress from Darjeeling once. When I initially wore it to office, my friends made faces however, after 2 months, it became the fashion rage in Delhi!

  2. I am delighted to know that you have liked this post. North Eastern states are like jewels in the crown of the country and their isolation, I feel has been a blessing in disguise! These states have retained their unique identities and original flavor to a great extent.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *